Indranil Bhattacharjee "सैल"

दुनियादारी से ज्यादा राबता कभी न था !
जज्बात के सहारे ये ज़िन्दगी कर ली तमाम !!

अपनी टिप्पणियां और सुझाव देना न भूलिएगा, एक रचनाकार के लिए ये बहुमूल्य हैं ...

May 15, 2011

एक साल - एक सपना - जन्मदिन स्पेशल !

देखते देखते एक और साल गुज़र गया ... व्यस्तताओं से घिरा हुआ, दुखों में डोलता, खुशियों में झूमता, कुछ उदास, कुछ मुस्कुराता, जीवन का एक और टुकड़ा ... और मैंने कहा था पिछले साल के पोस्ट में की शिवम जी के पोस्ट से मुझे यह  पता  चला था की आज के दिन अमर शहीद सुखदेव का भी जन्मदिन है ... तो आज आप सभी  दोस्तों से एक अनुरोध है ... छोटा सा है ... please please please मना मत करियेगा ....
आइये आज हम सब, जब भी हमें समय मिले, केवल एक मिनिट के लिए अपनी आँखें बंद करके भारत माता के उस महान सपूत को याद करलें ... यह हमारी तरफ से भारत माता के लिए स्वाधीनता संग्राम में जान देने वाले उन हजारों वीरों को सम्मान प्रदान करना होगा ...


कल रात एक सपना देखा ... आज आप सबके लिए उसी सपने को मैं अपनी शब्दों में ढालने की कोशिश किया है ...

कल रात देखा 
एक सपना अजीब सा !
दूर किसी गांव में,
हम और तुम,
दोनों मिलके बना रहे थे 
अपने लिए एक छोटा सा झोपड़ा ।
आसपास के जंगल से 
चुनके लाते
सुखी लकड़ी,
और पत्ते,
फिर उनसे बनाते हैं 
दीवार और छत  ...
फिर मिट्टी खोदके,
उसमें पानी मिलाकर,
गीली मिट्टी लगाते हैं 
दीवार पर और
झोपड़े के अंदर 
फर्श लेपते हैं ।
फिर मिट्टी के दीवारों को 
रंगते हैं अपने हाथों से,
सफ़ेद, पीली मिट्टी से 
अपने मन से बनाते हैं 
कुछ आड़ा तिरछा चित्र ।

कितना सुन्दर है वो छोटा सा,
मगर प्यारा सा,
अपना वो "घर" ।

मगर तभी मुझे दिखता है
दूर से आता भयानक तूफ़ान ।
तेज हवा का बवंडर ।
धुल का आसमान छूता अन्धकार ।
सबकुछ उड़ा ले जाने वाला 
प्रचण्ड  झंजावात ।

हम डर जाते हैं ।
ऐसा लगता है कि
इतने प्यार से संजोया हुआ 
ये घर बिखर जायेगा ।
ये जो सबकुछ है 
जाना पहचाना सा,
ये जो हम तिल तिल करके 
प्यार और मेहनत से बनाये हैं,
सब कुछ उड़ा के ले जायेगी 
ये समय की हवा ।

कितना डर, कितना डर !

लेकिन फिर हम दोनों
एक दुसरे को 
पकड़ते हैं अपनी बाहों में ।
कहते हैं एक दुसरे के कान में,
कि अगर बहा ले गई सबकुछ हवा,
फिर भी न हारेंगे हम,
फिर से बनायेंगे 
एक नया घर ।

और जानते हो 
फिर मैंने क्या देखा ?

मैंने देखा कि वो भयानक तूफ़ान 
थम गया अपने आप !
जैसे हारके हमारे प्यार के सामने
चला गया वापस ।

बस ऐसा ही कुछ सपना था 
शायद,
ठीक से याद नहीं है ...

क्या तुमने भी कोई देखा था 
सपना ?

34 comments:

  1. सुप्रिय बंधुवर इंद्रनील जी
    सादर सस्नेहाभिवादन !

    ~*~जन्मदिवस की हार्दिक बधाई और मंगलकामनाएं ! ~*~


    बहुत सुंदर रचना के लिए भी साधुवाद !

    आपकी भावनाएं प्रणम्य हैं …अमर शहीद सुखदेव जी को शत शत नमन !

    आपका जीवन ख़ुशियों से भरा रहे !
    आजीवन आपको संसार के सारे सुख मिलें ! हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं !
    तथास्तु …

    - राजेन्द्र स्वर्णकार

    ReplyDelete
  2. मैंने देखा कि वो भयानक तूफ़ान
    थम गया अपने आप !
    जैसे हारके हमारे प्यार के सामने
    चला गया वापस ।
    aisa hi hota hai, sapna sach batata hai, pyaar me adbhut taakat hoti hai

    ReplyDelete
  3. प्यार की ताकत के सामने कैसा तूफान टिक सकता है? जन्मदिन की शुभकामनायें!

    ReplyDelete
  4. आज विश्व परिवार दिवस के अवसर पर आपकी इस कविता को जब मैं देखता हूं तो इसके गहरे अर्थ सामने आते हैं।
    सारा झंझा झेल कर यह इस लिए बरकरार रहा कि आप मकान नहीं घर बना रहे थे ... प्यार की मिट्टी, स्नेह के रंग और सद्भावना के जल से।

    ReplyDelete
  5. dili mubarkbaad qubul kijiye jnab mubark ho .akhtar khan akela kota rajsthan

    ReplyDelete
  6. इन्द्रनील भाई, जन्मदिन की बहुत बहुत हार्दिक बधाइयाँ और शुभकामनाएं !
    आपकी अपील ने दिल जीत लिया ... आज के दौर में इसी सोच की जरुरत है !

    ReplyDelete
  7. बस ऐसे ही हम सब को एक साथ मिल कर हर तूफ़ान का सामना करना है ... जय हो !

    ReplyDelete
  8. जन्मदिन की बहुत बहुत शुभकामनाएं सर!अमर शहीद सुख देव को याद करना आज हर भारतीय का कर्तव्य है .
    आपकी यह कविता भी बहुत अच्छी लगी.

    सादर

    ReplyDelete
  9. जन्मदिन की बधाई और शुभकामनायें ....

    आँख बंद कर शहीदों को नमन ..

    खूबसूरत रचना

    ReplyDelete
  10. Aapko Janmdin ki hardik Shubhkamnaaen! Aapki is nek salaah per zaroor amal karunga...

    ReplyDelete
  11. आपको जन्मदिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ .

    ReplyDelete
  12. मैंने देखा कि वो भयानक तूफ़ान
    थम गया अपने आप !
    जैसे हारके हमारे प्यार के सामने
    चला गया वापस ।

    beautifully written.

    जन्मदिन स्पेशल की हार्दिक शुभकामनाएँ.

    ReplyDelete
  13. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  14. जन्मदिन की शुभकामनायें ! !

    ReplyDelete
  15. शहीदों के प्रति आपकी भावनाओं का हम सभी सम्मान करते हैं.
    आपकी रचना सुदंर है जो सकारात्मक बिंदु तक आ जाती है. यही जीवन है.
    जन्मदिन की शुभकामनाएँ.

    ReplyDelete
  16. शहीदों के प्रति आपकी संवेदनाएँ और भावनाएं वाकई में सराहनीय है. बहुत सुंदर कविता से आपने मुश्किलों से मुकाबला करने का आहवाहन किया है.

    जन्मदिन कि बहुत बधाईयाँ.

    ReplyDelete
  17. आपकी रचनात्मक ,खूबसूरत और भावमयी
    प्रस्तुति भी कल के चर्चा मंच का आकर्षण बनी है
    कल (16-5-2011) के चर्चा मंच पर अपनी पोस्ट
    देखियेगा और अपने विचारों से चर्चामंच पर आकर
    अवगत कराइयेगा और हमारा हौसला बढाइयेगा।

    http://charchamanch.blogspot.com/

    ReplyDelete
  18. हाँ मैंने भी एक सपना देखा था जिसमें यह सब सच हो रहा है ....
    जन्मदिन की बधाई और शुभकामनायें ....

    ReplyDelete
  19. अमरशहीदों को नमन के साथ ही
    आपके जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएँ...

    ReplyDelete
  20. इन्द्रनील भाई,
    जन्मदिन की हार्दिक बधाई। एक मिनट आंखें बंद करके भी आपका आदेश माना।
    सपना सच में बहुत खूबसूरत है और क्यूँकि मिलकर देखा है इसलिये उसका महत्व और भी बढ़ गया है। तूफ़ान आयेंगे, जायेंगे लेकिन जो सोचा है वो होकर रहेगा।

    ReplyDelete
  21. इन्द्रनील जी जन्मदिन की अशेष शुभकामनायें......

    ReplyDelete
  22. janmdin ki bahut bahut badhai ...aur rachna laazwab....

    ReplyDelete
  23. प्यार की यही ताकत है....


    जन्म दिवस की बहुत बधाई एवं हार्दिक शुभकामनाएँ.

    ReplyDelete
  24. फिर भी न हारेंगे हम,
    फिर से बनायेंगे
    एक नया घर ।

    ReplyDelete
  25. आप सभी को बहुत बहुत धन्यवाद, आप सबका प्यार, स्नेह और आशीष पाकर मैं धन्य हो गया हूँ ... बहुत अच्छा लग रहा है कि इतने सारे लोग मुझे जन्मदिन की बधाई देने आ गए हैं ...

    ReplyDelete
  26. sail bhai....
    happy wala birthday hai...

    sapne to sapne hote hain....

    ReplyDelete
  27. आपको जन्मदिन की ढेर सारी बधाइयाँ और शुभकामनायें! आपको जीवन में हर खुशियाँ मिले और आप हमेशा स्वस्थ रहें यही प्रार्थना करती हूँ इश्वर से!
    बहुत बढ़िया पोस्ट!

    ReplyDelete
  28. happy birthday aapko.sapne main aapne bahut achchi baat dekhi ki pyaar ke saamne achche achche toofaan bhi apnaa rukh modh leten hai.badhaai aapko itani achchi rachanaa ke liye.


    please visit my blog and leave the comments also.

    ReplyDelete
  29. सच कहा ... जीत का विचार ... हिम्मत एक नया जोश भर देती है ... और विपत्तियाँ थम जाती हैं ...

    ReplyDelete
  30. जन्मदिन की बहुत बहुत शुभकामनाएं|
    बहुत बढ़िया पोस्ट|धन्यवाद|

    ReplyDelete
  31. फिर भी ना हारेंगे हम ...सुन्दर सपना सच होता रहे हम सभी के जीवन में ..
    जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनायें !

    ReplyDelete
  32. जन्मदिन की बहुत बहुत शुभकामनाएं|

    ReplyDelete
  33. बहुत देर से पहुँच पाया ....माफी चाहता हूँ..

    ReplyDelete
  34. जनम-दिन का सपना सुहाना है.बहुत-बहुत मुबारकवाद.
    क्रांतिकारी सुखदेव जी के साथ आपका जनम-दिन मनाना और सुखद है.

    ReplyDelete

आपकी टिप्पणियां एवं सुझाव बहुमूल्य हैं ...

आप को ये भी पसंद आएगा .....

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...