Indranil Bhattacharjee "सैल"

दुनियादारी से ज्यादा राबता कभी न था !
जज्बात के सहारे ये ज़िन्दगी कर ली तमाम !!

अपनी टिप्पणियां और सुझाव देना न भूलिएगा, एक रचनाकार के लिए ये बहुमूल्य हैं ...

Nov 14, 2010

एकदिन हकिक़त में बदलेंगे हम सपनों को

बाल दिवस के मौके पर आप सभी को हार्दिक शुभकामनायें ... खास कर उन सभी निष्पाप कलियों को जिनके रंग से रंगी है हमारी बगिया और जिनकी खुशबू से महका है ये चमन ...
साथ ही प्रस्तुत है इस मौके पर मेरी बेटी चिन्मयी द्वारा बनाई गई चाचा नेहरु की एक तस्वीर ... यह तस्वीर उसके ब्लॉग LITTLE FINGERS पर प्रकाशित की गई है ...


 
उमंगों के झोकों पर
उड़ती सपनों की पतंगें
पर है थामे हम उनकी
डोर अपने हाथों में
नन्हे मुन्ने हाथों में

बदलेंगे हम दुनिया
हम गढ़ेंगे, हम लिखेंगे
अपने देश का स्वर्णिम
भविष्य अपने हाथों से
नन्हे मुन्ने हाथों से  

एकदिन हकिक़त में
बदलेंगे हम सपनों को
देखेगी सारी दुनिया
कमाल अपने हाथों के
नन्हे मुन्ने हाथों के  

30 comments:

  1. बहुत बढ़िया भावपूर्ण रचना ....

    ReplyDelete
  2. बहुत ही सुन्‍दर प्रस्‍तुति ।
    बाल दिवस की हार्दिक शुभकामनायें.....

    ReplyDelete
  3. बाल दिवस पर
    बहुत सुन्दर और विचारणीय रचना

    ReplyDelete
  4. सुंदर भावों से सजी रचना. मुझे एक पुराना गीत याद आ गया

    मेरी आवाज़ सुनो
    प्यार का राज़ सुनो
    मैंने इक फूल जो सीने पे सजा रखा था
    उसके पर्दे में तुम्हें दिल से लगा रखा था
    था जुदा सबसे मेरे इश्क़ का अंदाज़ सुनो.

    ReplyDelete
  5. महेंद्र मिश्र जी, संजय भास्कर जी, दीपक जी, निलेश जी, और भूषण जी ... आप सबको मेरा धन्यवाद रचना को सराहने के लिए ...

    ReplyDelete
  6. एकदिन हकिक़त में
    बदलेंगे हम सपनों को
    देखेगी सारी दुनिया
    yahi hausla hamen mitne nahin deta, jhukne nahin deta ...... yahi hausla kahta hai hum hindustani , hai na ?

    ReplyDelete
  7. दीदी आपने सही कहा ... जितने झंझावातों से हम जूझते रहते हैं ... हिम्मत नहीं हारते ... कहीं तो नीव बहुत मजबूत है तभी जर्जर होकर भी ईमारत नहीं गिरती ...

    ReplyDelete
  8. are waah chinmayi ne to bahut hi achhi painting banayi hai ....
    aur aapki kavita to lajawab hai hi ....
    bahut hi khubsurat wichaar hain |
    aur haan mere pichhli paheli mein aap teesre sthaan par rahe the..lekin aaj ki paheli mein aap nahi aaye....

    ReplyDelete
  9. बदलेंगे हम दुनिया
    हम गढ़ेंगेए हम लिखेंगे
    अपने देश का स्वर्णिम
    भविष्य अपने हाथों से
    नन्हे मुन्ने हाथों से

    कविता में बच्चों के सपनों और आत्मविश्वास को सुंदर शब्द दिए है आपने।
    और हां, चिन्मयी द्वारा बनाया गया चित्र तो कलात्मक है ...शुभकामनाएं।

    ReplyDelete
  10. बहुत सुन्दर रचना । आपकी बेटी ने बहुत अच्छी तस्वीर बनाई है लगता है अपने भविष्य की तस्वीर अभी से बनाने मे जुट गयी है उसे बहुत बहुत आशीर्वाद। बाल दिवस की शुभकामनायें।

    ReplyDelete
  11. शेखर सुमन जी, महेंद्र वर्मा जी और निर्मला जी, आप सभीको शुक्रिया कि आपने रचना और चित्र को पसंद किया ...
    निर्मलाजी, चिन्मयी को चित्रांकन बहुत पसंद है ...

    ReplyDelete
  12. बिटिया ने सुन्दर चित्र बनायीं है. भावपूर्ण रचना के लिए बधाई एवं आभार.

    ReplyDelete
  13. सुन्दर भाव! बिटिया चिन्मयी को सुन्दर चित्रांकन के लिये बधाई!

    ReplyDelete
  14. बदलेंगे हम दुनिया
    हम गढ़ेंगे, हम लिखेंगे
    अपने देश का स्वर्णिम
    भविष्य अपने हाथों से
    नन्हे मुन्ने हाथों से....

    ----

    Lovely pic ! and indeed a beautiful creation in addition !

    .

    ReplyDelete
  15. बहुत अच्छी रचना ...काश ऐसा ही हो ...

    ReplyDelete
  16. desh ke nachhe humesha hi bhavishya rahe hain desh ka....baal diwas ki shubhkamnayen

    ReplyDelete

  17. बेहतरीन पोस्ट लेखन के लिए बधाई !

    आशा है कि अपने सार्थक लेखन से,आप इसी तरह, ब्लाग जगत को समृद्ध करेंगे।

    बाल दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं !

    आपकी पोस्ट की चर्चा ब्लाग4वार्ता पर है-पधारें

    ReplyDelete
  18. Chinmayi has great potentials. Nice expression!

    ReplyDelete
  19. वाह...वाह...वाह...काश जैसा आपने लिखा है वैसा ही हो...बल दिवस अनुपम रचना प्रस्तुत की है आपने...बधाई
    नीरज

    ReplyDelete
  20. बालदिवस एक अच्छी रचना !!!

    ReplyDelete
  21. सैल भाई, बहुत सुंदर कविता लिखी है। बधाई स्‍वीकारें।

    ---------
    गायब होने का सूत्र।
    क्‍या आप सच्‍चे देशभक्‍त हैं?

    ReplyDelete
  22. बहुत सुंदर बाल कविता लिखी है आपने. बधाई.

    ReplyDelete
  23. अरे तस्वीर तो बहुत सुंदर है ..... और कविता भी......

    चिन्मयी को बहुत बहुत प्यार. मेरे ख्याल से कला में इनको और ज्यदा ध्यान दें ... सुखद भविष्य की कामना है.

    ReplyDelete
  24. बहुत उत्साहित करती रचना. और चित्र बहुत प्यारा है बिटिया की तरह.बधाई.

    ReplyDelete

आपकी टिप्पणियां एवं सुझाव बहुमूल्य हैं ...

आप को ये भी पसंद आएगा .....

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...