Indranil Bhattacharjee "सैल"

दुनियादारी से ज्यादा राबता कभी न था !
जज्बात के सहारे ये ज़िन्दगी कर ली तमाम !!

अपनी टिप्पणियां और सुझाव देना न भूलिएगा, एक रचनाकार के लिए ये बहुमूल्य हैं ...

Jun 26, 2010

एक बार फिर

सभी दोस्तों से, एवं समस्त सुधिजनो से माफ़ी मांगता हूँ । संव्यावसायिक व्यस्तताओं के कारण कई दिन ब्लॉग से दूर रहना पड़ा । इस बीच देश भी हो आया जहाँ इन्टरनेट की सुविधा मिल नहीं सकी ।  तिन चार दिन पहले लौटा हूँ । सोच रहा था की क्या पोस्ट किया जाये ....
आज शादी की आठवीं सालगिरह थी
।  देखते देखते आठ साल किस तरह बीत गए, पता ही नहीं चला ।  बेटी हुई, और अब तो मेरी नानी बन गई है ।  बात बात में मुझे कुछ न कुछ उपदेश दे देती है  । मेरी पत्नी के साथ कुछ  बहस हो जाए, तो  मेरी तरफ देखती है और हंस कर कहती है  ... 'ओहो  बाबा आप भी ना'  ....
पत्नी से पुछा आज क्या गिफ्ट चाहिए
।  तो वो बोली कोई गिफ्ट नहीं चाहिए ... चलो आज कोई नया कांटिनेंटल भोजन खाया जाए ।  तो हम तीन मिलकर कुछ दूर स्थित कोरियन रेस्तौरां में गए और कुछ कोरियन व्यंजन का लुत्फ़  उठाया ।  आजकी कुछ तस्वीर नीचे दे रहा हूँ और साथ ही पोस्ट कर रहा हूँ एक कविता .... मेरी प्रियतमा के लिए ....

 
तुम्हारी हँसी की खनखनाहट में
सुनाई देती है
मोत्सार्ट की सिम्फोनी नंबर चालीस ।
तुम्हारी आँखों की चमक
म्लान कर देती है
कोहिनूर को ।
हाथ फेरती हो
प्यार से बालों में,
जैसे पुरवाई हिलाती है
पत्तों को ।
और जी करता है कि,
एक बार फिर,
चुपके चुपके,
तुमसे मिलूं,
सबसे नज़रें बचाकर,
तुम्हारे हाथों को छूं लूँ ।
और कहीं बाहर जाऊं,
फिर किसी फोन बूथ से,
डरते डरते फोन करूँ,
और कहूँ ....
मुझे तुमसे प्यार है



24 comments:

  1. Is par sabse pqahle main comment karunga... :)

    Geology bhai ho aap hamare :)

    तुम्हारी आँखों की चमक
    म्लान कर देती है
    कोहिनूर को ।

    yah sneh yugon kalpon ke paar apaar bana rahe...

    :)

    ReplyDelete
  2. शादी की सालगिरह की मुबारकबाद ....खाना और गाना ( कविता )
    बहुत पसंद आये ..

    ReplyDelete
  3. सर्वप्रथम शादी की सालगिरह की शुभकामनाएँ
    मुझे तुमसे प्यार है’ कहने का अन्दाज़ प्यारा है.

    ReplyDelete
  4. सर्वप्रथम शादी की सालगिरह की शुभकामनाएँ,

    बाकी आपका अंदाज़ बहुत पसंद आया!

    ReplyDelete
  5. बहुत बढ़िया पोस्ट! शादी की वर्षगांठ बहुत बहुत मुबारक हो! ढेर सारी बधाइयाँ और शुभकामनायें!

    ReplyDelete
  6. कविता अच्छी लगी.बधाई!

    ReplyDelete
  7. फिर किसी फोन बूथ से,
    डरते डरते फोन करूँ,
    और कहूँ ....
    ‘मुझे तुमसे प्यार है’ ।

    Kitne romanchkari,jadui hote hain wo din!
    Shadiki saalgirah mubarak ho!
    Bitiya ko bahut sara pyar karna!

    ReplyDelete
  8. वैलकम बॉस,
    हम तो इंतज़ार कर ही रहे थे।
    शादी की सालगिरह आप दोनों को बहुत बहुत मुबारक।
    वापिसी, पोस्ट, खाना, गाना और तस्वीरें सभी कुछ अच्छा लगा।
    पुन: बधाई।

    ReplyDelete
  9. वाह! सुन्दर कविता,और जीवन के आनन्द के लिये मुबारकबाद!

    ReplyDelete
  10. सर्वप्रथम शादी की सालगिरह की शुभकामनाएँ। कविता अच्छी लगी।

    ReplyDelete
  11. शादी के साल गिरह की बहुत बहुत बधाई !बढिया भोजन और प्यार का इजहार ! साथ में कविता ! वाह ! यूँ ही चलता रहे !

    ReplyDelete
  12. बहुत सुन्दर रचना..बधाई. शादी के साल गिरह की बहुत बहुत बधाई !


    ***************************
    'पाखी की दुनिया' में इस बार 'कीचड़ फेंकने वाले ज्वालामुखी' !

    ReplyDelete
  13. sabse pahle shadi ki saalgirah ki badhai aur itna laziz bhojan peshkar dawat bhi de hi diya ,
    तुम्हारी हँसी की खनखनाहट में
    सुनाई देती है
    मोत्सार्ट की सिम्फोनी नंबर चालीस ।
    तुम्हारी आँखों की चमक
    म्लान कर देती है
    कोहिनूर को ।
    itni pyari kavita likhi hai ,yoon hi shringaar saja rahe jeevan me .

    ReplyDelete
  14. एक बार फिर,
    चुपके चुपके,
    तुमसे मिलूं,
    सबसे नज़रें बचाकर,
    तुम्हारे हाथों को छूं लूँ ।
    और कहीं बाहर जाऊं,
    फिर किसी फोन बूथ से,
    डरते डरते फोन करूँ,
    और कहूँ ....
    ‘मुझे तुमसे प्यार है’ ।

    अच्छा लगा "चलो एक बार फिर से अजनबी बन जाएँ हम दोनों "
    शादी के साल गिरह की बहुत बहुत बधाई

    ReplyDelete
  15. ओये होए .....!!

    बधाइयां जी बधाइयां .....!!

    बीवी की फोटो सोटो तो लगा देते जी इस कांटिनेंटल के साथ .....

    नज़्म में जितना प्यार दिखाया वास्तव में उतना ही है न ......????

    अब इस ' छूं' को छू कर लें .....!!

    ReplyDelete
  16. der lagi aane me...shuqra hai fir bhi aaye to ..

    aur sahab aaye to aaye..badi meethi si nazm kah gaye ... waah ..akhir ki baaten bade purane dino me kheench le gayi

    ReplyDelete
  17. सबको अनेक अनेक धन्यवाद ! मनोकामना यही है कि आप सबका प्यार हमेशा मिलता रहे ... मेरे लिए यह एक प्रेरणा है ...

    @ क्षमा जी
    आपने सही कहा है ... आज भी उन बीते दिनों को याद करके मन रोमांचित हो जाता है ... जी करता है कि उन पलों को फिर से जिया जाये

    @ ज्योति जी
    आप सब को निमंत्रण है ... यदि कभी मुलाकात हुई तो ज़रूर याद दिलाइएगा ...

    @ हरकीरत जी
    बेगम कि तस्वीर भी लगाईं है हमने तो ... बस कांटिनेंटल के साथ नहीं ली थी ... और वास्तव में कितना प्यार है ये तो बेगम ही बता पायेगी ...

    @ स्वप्निल जी
    आप सब का प्यार जाने कहाँ देता है ... आपके वो पुराने दिनों के बारे में भी कुछ लिखिए अपने ब्लॉग पर ....:)

    ReplyDelete
  18. Belated happy marriage anniversary !

    Lovely pics and yummy dishes !

    @-फिर किसी फोन बूथ से,
    डरते डरते फोन करूँ,
    और कहूँ ...

    Guzra hua zamana, aata nahi dubara..

    ReplyDelete
  19. bahut sundar kavitaa likhi hai. chhota parivaar,sukhi parivaar.isi tarah shukhi rahate huye jeevan ke anubhav prapt karate raho. sakriy rahakar likhanaa hi apnaa dharmhai.

    ReplyDelete
  20. umda likha hai..aur neend ke ghar jana ..ohho..man le gayi

    ReplyDelete
  21. ओये होए!
    बेहद रोमानी!
    खाने की तस्वीर नहीं लगानी चाहिए थी..... क्यूँ?
    इट्स टफ टू बी ए बैचलर!
    शादी की ये सालगिरह मुबारक, हर दिन मुबारक और हर घडी मुबारक!

    ReplyDelete
  22. शादी की वर्षगाँठ मुबारक ... भगवान से दुआ माँगता हूँ की ऐसे ही आपका रोमांस ८० सालों तक बना रहे ...

    ReplyDelete

आपकी टिप्पणियां एवं सुझाव बहुमूल्य हैं ...

आप को ये भी पसंद आएगा .....

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...