Indranil Bhattacharjee "सैल"

दुनियादारी से ज्यादा राबता कभी न था !
जज्बात के सहारे ये ज़िन्दगी कर ली तमाम !!

अपनी टिप्पणियां और सुझाव देना न भूलिएगा, एक रचनाकार के लिए ये बहुमूल्य हैं ...

Aug 18, 2011

राष्ट्रपति का दौरा

एक महीने के लिए भारत छुट्टी पे गया था । वहाँ से लौटने के बाद भी बिलकुल समय नहीं मिल रहा था कि ब्लॉग पर कुछ लिखूं । आज फिर आ गया अपने दोस्तों से मिलने ।
भारत से लौटने के बाद यहाँ हमारे माननीय राष्ट्रपतिजी श्रीमती प्रतिभाताई पाटिल का दौरा हुआ । उनके साथ करीब तीस लोगों का व्यापारिक प्रतिनिधिमंडल भी आया हुआ था जिनका नेतृत्व मानस एड्वैजोरी के श्री भूतलिंगम जी कर रहे थे । इसके अलावा विदेश मंत्रालय के कई अफसर भी आये थे । राष्ट्रपतिजी के टोली में आदिवासी मामलों के राज्य मंत्री श्री खंडेला जी और सांसद श्रीमती तिरिया भी उपस्थित थे
Chinggis Khaan हवाई अड्डे पर राष्ट्रपति श्रीमती पाटिल का स्वागत करने के लिए मोंगोलियाई विदेश मंत्री श्री Zandanshatar और भारत में मंगोलियाई राजदूत श्री Enkhbold आये हुए थे । उसके बाद यहाँ उलानबातर स्थित सुख्बातर चौक पे मोंगोलियाई राष्ट्रपति श्री एल्बेग्दोर्ज और उनकी पत्नी द्वारा हमारे राष्ट्रपति का स्वागत किया गया
२७ से २९ जुलाई तक के दौरे में राष्ट्रपतिजी  यहाँ के प्रधान मंत्री, यहाँ के महिला राजनेत्री का एक दल और यहाँ के व्यापारिक संगठन से भी मिले
मेरा  सौभाग्य था कि उस समय मैं यहीं उपस्थित था और राष्ट्रपतिजी के उपस्थिति तथा सम्मान में आयोजित व्यापार मंच में भाग लेने का अवसर प्राप्त हुआ वहां पर मुझे कई स्वनामधन्य और प्रतिष्ठित उद्योगपतियों से मिलने का मौका मिला
२८ तारीख को उलानबातर में स्थित महात्मा गाँधी के पुतले पर फूल चढाने के लिए आयोजित कार्यक्रम में माननीय राष्ट्रपतिजी के सामने अन्य भारतीयों के साथ मिलकर "रघुपति राघव" गाने का अवसर भी प्राप्त हुआ  
राष्ट्रपतिजी जब गांधीजी के पुतले को फूल चढ़ाके लौट रहे थेमेरी पत्नी तृप्ति को उनसे आमने सामने बात करने का सुवर्ण अवसर प्राप्त हुआ । राष्ट्रपतिजी अपने हाथों से मेरी बेटी चिन्मयी को एक चोकोलेट का डब्बा भी उपहार स्वरुप दिए । इसके बारे में आप यहाँ देख सकते हैं
आप  सबके लिए आज मैं उन्ही क्षणों की कुछ तस्वीर प्रस्तुत कर रहा हूँ । उम्मीद है आप सबको अच्छा लगेगा । बहुत जल्दी आप सबके लिए मैं फिर से कविता इत्यादि लेकर हाज़िर हो जाऊंगा
तब तक के लिए नमस्कार

माननीय राष्ट्रपति जी के साथ व्यापार मंच के दौरान. 
महात्मा गाँधी के पुतले पर फूल चढ़ाती माननीय राष्ट्रपति प्रतिभा देवीसिंह पाटिल 
महात्मा गाँधी के पुतले के पास अन्य भारतीयों के साथ
माननीय राष्ट्रपति जी से बात कर रही है तृप्ति
मेरी बेटी चिन्मयी को उपहार देती हुई माननीय राष्ट्रपति

22 comments:

  1. चिमयी के उफार की बात तो फेस बुक पर देखी थी बाकी चित्र और वर्णन पढ़ कर बेहद अच्छा लगा।

    ReplyDelete
  2. लाजवाब चित्रों के साथ सजी पोस्ट ... विवरण पढ़ कर अच्छा लगा ...

    ReplyDelete
  3. बहुत कुछ दिखा दिया है आपने इस लेख के द्धारा।

    ReplyDelete
  4. बहुत सुन्दर प्रस्तुति..पढ़ कर बहुत अच्छा लगा.

    ReplyDelete
  5. बहुत अच्छा लगा पढ़कर। आपको बहुत-बहुत बधाई।

    ReplyDelete
  6. आदरणीय भाई इंद्रनील जी
    सादर सस्नेहाभिवादन !

    माननीया राष्ट्रपतिजी से मिलने ,
    रघुपति राघव गाने ,
    और रानी बिटिया चिन्मयी को महामहिमा के हाथों उपहार पाने की सचित्र रिपोर्ट बहुत अच्छी लगी ।
    बधाई ! बधाई !! बधाई !!!

    # कभी अपने ब्लॉग पर आपकी आवाज़ में आपकी ग़ज़ल हमारे सुनने के लिए भी लगाएं न ! :)


    हार्दिक मंगलकामनाओं सहित
    -राजेन्द्र स्वर्णकार

    ReplyDelete
  7. …और हां , तृप्ति बहन को पहली बार देखा …
    सुंदरता में मेरी बहन बिल्कुल तन्मयी पर गई है …
    नज़र न लगे , इसलिए 'थुथकारा' डाल रहा हूं …:)
    थुथकारा राजस्थानी शब्द है ,
    किसी प्रिय को बुरी नज़र से बचाने के लिए होंठ गोल करके ,
    जीभ को थोड़ा-सा बाहर निकाल कर थु थु बोला जाता है …
    और बुरी नज़र नहीं लगती … :))

    ReplyDelete
  8. सार्थक चित्रमयी यात्रा वृतांत का varnan किया है आपने .आपके परिवार के साथ प्रतिभा जी की स्नेहपूर्ण भेंट हेतु बधाई
    blog paheli no.1

    ReplyDelete
  9. बढ़िया विवरण मिला...तस्वीरें अच्छी हैं.

    ReplyDelete
  10. सुंदर प्रस्तुति. बहुत बहुत बधाई.
    सादर,
    डोरोथी.

    ReplyDelete
  11. बहुत-बहुत बधाई.

    ReplyDelete
  12. यादगार तस्वीरों के साथ राष्ट्रपति जी की स्मृतियाँ. बढ़िया लगा. बधाइयाँ.

    ReplyDelete
  13. यादगार मुलाकात रही।

    आभार

    ReplyDelete
  14. राष्ट्रपति की यात्रा और आपका सपरिवार उनसे मिलने का विवरण पढ़कर अच्छा लगा ।
    बधाई एवं शुभकामनाएं।

    ReplyDelete
  15. बना रहे यह मुलाकातों का सिलसिला ....और बढ़ता रहे जीवन का यह सफ़र अपनी मंजिल की और ...आपको बधाई

    ReplyDelete
  16. सुन्दर चित्रों से सुसज्जित बहुत बढ़िया विवरण रहा! बहुत बहुत बधाई!

    ReplyDelete
  17. बहुत सशक्त प्रस्तुति।

    ReplyDelete
  18. सुंदर प्रस्तुति...
    प्रिय चिन्मयी को महामहिमा के हाथों उपहार पाने पर बहुत बहुत बधाई!

    ReplyDelete
  19. अरे वाह! आप तीनों को बधाई हो!

    ReplyDelete

आपकी टिप्पणियां एवं सुझाव बहुमूल्य हैं ...

आप को ये भी पसंद आएगा .....

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...